घर व्यापार सामान के तहत पालतू जानवर का आयात

    सामान के तहत पालतू जानवर का आयात

    फा.सं. 495/16/2012-सीमाशुल्क्.VI

    भारत सरकार

    वित्तस मंत्रालय

    राजस्वर विभाग

    केंद्रीय उत्पावदन तथा सीमाशुल्क2 बोर्ड

    *****

                            कक्ष सं. 253-क,नार्थ ब्लॉडक ,

    नई दिल्लीउ, 08 अप्रैल, 2013.

    सेवा में ,

    सीमाशुल्कउ के सभी मुख्यप आयुक्तल ,
    सीमाशुल्कउ (निरोधक), के सभी मुख्य, आयुक्तछ ,
    सीमाशुल्कउ उत्पाीद शुल्कल, सीमाशुल्कू बिक्रीकर के सभी मुख्य9 आयुक्त् ,

    सभी महानिदेशक

    महोदय/महोदया,

    विषय : सामान के अंतर्गत पालतू पशुओं के आयात के संबंध में

    1. उपर्युक्तम विषय पर बोर्ड के दिनांक 23.12.2002 के परिपत्र सं. 94/2002- सीमाशुल्की की ओर ध्यारन आकृष्ट किया जाता है, जिसमें यह व्यनवस्था. थी कि मूल देश से अपेक्षित स्वा2स्य्ल् प्रमाणपत्र प्रस्तु्त करने और संबंधित संगरोध अधिकारी द्वारा उसकी जांच किए जाने की शर्त पर एक समय में प्रति व्यपक्ति 2 पालतू पशु तक आयात करने की अनुमति दी जा सकती है।

    2. बोर्ड ने इस संबंध में प्राप्तश अभ्याीवेदनों को देखते हुए प्रति व्य क्ति दो पालतू पशुओं के आयात की वर्तमान नीति की जांच की।तदनुसार, सामान नियम, 1998 के अनुसार दो वर्षों से लगातार विदेश में रह रहे व्यिक्तियों को अपना प्रवास भारत में स्था,नांतरित करने पर, मूल देश से अपेक्षित स्वा्स्य्ों प्रमाणपत्र प्रस्तु त करने तथा यहां पर संबंधित संगरोध अधिकारी द्वारा पालतू पशुओं की जांच की शर्त पर, केवल सामान (बैगेज) के रूप में दो पालतू पशु आयात करने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया। यह नई व्य(वस्था 15 अप्रैल, 2013. से लागू होगी। सामान्यतत: पशुओं का आयात डीजीएफटी नीति द्वारा शासित होता रहेगा।

    3. तदनुसार बोर्ड का दिनांक 23.12.2002 का परिपत्र सं.- 94/2002 – उस सीमा तक आशोधित किया जा चुका है।

    4. उपयुक्त व्याापार/सार्वजनिक नोटिस जारी करके इन अनुदेशों को व्याआपार/विमान सेवाओं/वाहकों को नोटि में लाया जाए। फील्ड अधिकारियों के मार्गदर्शन के लिए उपयुक्त स्थाशयी आदेश/अनुदेश जारी किए जाएं।  

    5. यदि कोई कठिनाईयां सामने आएं तो उन्हेंद तत्काउल बोर्ड के ध्या न में लाया जाए।

    भवदीय ,

    (एस.सी.गर्ग )

    अवर सचिव (सीमा शुल्कय )

    08 अप्रैल, 2013